page contents
Home » ख़बरे » नोएडा पहुंचा कोरोना वायरस का खौफ, 2 स्कूल बंद किए गए

नोएडा पहुंचा कोरोना वायरस का खौफ, 2 स्कूल बंद किए गए

चीन में महामारी का रूप धारण कर चुके खतरनाक कोरोना वायरस ने अब नोएडा में भी दस्तक दे दी है। शहर के दो निजी स्कूलों को मंगलवार को बंद कर दिया गया और परीक्षाएं टाल दी गईं। स्कूल में पढ़ने वाले एक छात्र के पिता कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। स्कूल की ओर से अभिभावकों को मंगलवार सुबह भेजे गए संदेश में कहा गया है कि ‘जरूरी कारणों’ के चलते परीक्षाएं टाली गई हैं, हालांकि बोर्ड परीक्षाएं होंगी।

जिला मजिस्ट्रेट बी.एन. सिंह ने बताया कि नोएडा के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग का एक दल सुबह करीब पौने बारह बजे निरीक्षण के लिए स्कूल पहुंचा। स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि इस बीच संक्रमित व्यक्ति के परिवार के कुछ सदस्यों में भी इसी तरह के लक्षण नजर आने के बाद उन्हें सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

– – – – – – – – – Advertisement – – – – – –

पीएम मोदी से मुलाकात के बाद क्या बोले केजरीवाल?दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंचे। दोनों के बीच दिल्ली में हुए दंगे और कोरोना वायरस पर बात हुई। केजरीवाल ने बताया कि मोदी से उन्होंने कहा कि दिल्ली दंगों के लिए किसी भी पार्टी, किसी भी धर्म के लोग जिम्मेदार हों, उनपर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

सूत्रों ने बताया कि उनके कुछ अन्य संबंधियों को कहा गया है कि वे अपने घर में ही, अलग रहें। उन्होंने बताया कि संक्रमित व्यक्ति के लिए अकाउंटेंट का काम करने वाले मयूर विहार निवासी एक व्यक्ति और कुछ अन्य लोगों को जांच के लिए सफदरजंग अस्पताल भेजा गया है। संक्रमित व्यक्ति के अन्य करीबी लोगों का पता लगाया जा रहा है।

दिल्ली हिंसा :संसद में विपक्ष ने मांगा मोदी-अमित शाह का इस्तीफा

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक हाल ही में इटली से लौटे दिल्ली निवासी व्यक्ति संक्रमित पाए गए थे। उन्होंने आगरा में तीन दिन पहले एक पार्टी दी थी, जिसमें नोएडा के एक स्कूल के दो छात्रों सहित पांच लोग शामिल हुए थे। यह शख्स संक्रमित पाए जाने के बाद उनकी पार्टी में शामिल होने वाले दो छात्रों सहित पांच लोगों को ग्रेटर नोएडा के राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जिम्स) में भर्ती कराया गया है।

यह बहुत आम सेफ्टी है लेकिन इसे गंभीरता से लिया जाना बहुत जरुरी है। कई लोगों को माउथ मास्क लगाने में शर्म आती है और असहज महसूस होता है लेकिन कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इसे पहनना शुरू कर दें। डॉक्टरों के मुताबिक इससे संक्रमण का खतरा कई गुना तक कम हो जाता है। इसलिए आज ही बाजार से जाकर माउथ मास्क खरीदें और घर से बाहर निकलने के बाद इसे पहनें।

जानिए क्यों छोड़ रहे है, पीएम मोदी सोशल मीडिया

सबसे ज्यादा ध्यान इस बात पर भी देना है कि जो लोग छींक रहे हैं उनसे भी आपको दूरी बनाकर रखनी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हाल ही में इस पर एक बार फिर से सभी लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है। दरअसल सर्दी जुकाम से मिलते जुलते लक्षण कोरोना वायरस के भी होते हैं, ऐसे में जब कोई आपके आस-पास छींक रहा हो तो उससे दूर हट जाएं और अपने मुंह को ढकने की कोशिश करें। अंडा और मांस को न खाने की सलाह बहुत पहले से दी जा रही है लेकिन लोगों के द्वारा इसे अभी भी नजरअंदाज किया जा रहा है। ऐसे में जब कोरोना वायरस भारत में अपने पैर पसार रहा है तो कोशिश करें कि पूरी तरह से अंडे और मांस से दूरी बना लें। ऐसा करने से आप कोरोना वायरस के संक्रमण में आने से बचे रहेंगे।
कोरोना वायरस विश्व रूपी स्वास्थ्य समस्या बन चुका है। ऐसे में वैज्ञानिकों ने अध्ययन करके यह पता लगाया है कि यदि हम दरवाजे और खिडकियों को खुला रखकर ताजी हवा में सांस लें, तो इससे कोरोना वायरस की चपेट में आने से बचा जा सकता है। साथ ही सिंगापुर में चीफ हेल्थ साइंटिस्ट चोर्थ चुहान ने भी ऐसा करने की सलाह दी है, उनके अनुसार ताजी हवा में कोरोना वायरस फैल नहीं पाते हैं। कोशिश करें कि आपके बेडरूम और गेस्ट रूम की दरवाजे खिड़कियां खुली रहें।
कमरे को गर्म रखने का मतलब है कि आपके कमरे का तापमान करीब 30 डिग्री सेल्सियस के ऊपर ही रहे। National Center for Biotechnology Information (NCBI) के द्वारा हाल ही में किए गए रिसर्च के अनुसार कमरे का तापमान गर्म रखने से इस वायरस के संक्रमण का खतरा भी कम हो जाता है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के अलावा कई वैज्ञानिकों के द्वारा अभी तक कहा जा चुका है कि गर्मी आने पर यह संक्रमण काफी हद तक खत्म हो जाएगा। इसलिए कोशिश करें कि एसी आदि को कम ही चलाएं और कमरे को गर्म रखें।
सबसे खास बात आप मांस खाएं या न खाएं लेकिन ऐसी किसी भी मार्केट के आस-पास से न गुजरें जहां मांस बिक रहा हो और इनकी बदबू फैली हो। ऐसी हवा में भी कोरोना होने का खतरा बहुत हद तक बढ़ जाता है। इसलिए आप भी कोरोना वायरस से बचने के लिए मांस-मछली के बिकने वाली जगह से जाने से बचें।यह भी पढ़ें : करॉना वायरस से बचाव के लिए यात्रा के दौरान अपनाएं ये उपाय

स्वास्थ्य विभाग ने इन सभी के नमूने जांच के लिए नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल(एनसीडीसी) को भेज दिए हैं। इनकी रिपोर्ट आज शाम तक आने की संभावना है। दोनों बच्चे उसी स्कूल के छात्र हैं जहां स्वास्थ्य विभाग का दल जांच के लिए पहुंचा है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनुराग भार्गव ने बताया कि पांचों संदिग्धों को पृथक किया गया है। उन्हें जिम्स के पृथक वॉर्ड में भर्ती कराया गया है जहां उनके स्वास्थ्य पर चिकित्सकों द्वारा लगातार निगाह रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि आज शाम तक सभी संदिग्ध मरीजों की जांच रिपोर्ट आ जाएगी। इसके बाद ही स्पष्ट हो पाएगा कि ये लोग कोरोना वायरस से पीड़ित हैं या नहीं।

दिल्ली हिंसा: पुलिस पर पिस्टल तानने वाला शाहरुख हुआ गिरफ्तार

एक हजार कंपनियों को कोरोना वायरस अलर्ट
कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है और यहां स्थित 1,000 से अधिक देशी-विदेशी कंपनियों को कोरोना वायरस अलर्ट नोटिस दिया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी गौतमबुद्ध नगर अनुराग भार्गव ने बताया कि नोटिस में सभी कंपनियों से कहा गया है कि यदि उनका कोई कर्मचारी विदेश गया है तो उसके भारत लौटने पर स्वास्थ्य विभाग को इसकी सूचना दी जाए। सीएमओ ने बताया कि ईरान, सिंगापुर, चीन समेत 13 देशों से लौटने वाले लोगों की जांच का आदेश दिया गया है। गौरतलब है कि नोएडा में चीन, जापान, कोरिया, इटली, जर्मनी की कई नामी कंपनियां हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *